What is HantaVirus ? हन्तावायरस क्या है ? Full Explain in Hindi

अभी दुनिया CoronaVirus से बचाव करने में अच्छे से सफल हुआ भी नही था कि दुनिया मे एक और Virus ने कदम रख दिया है, जी हाँ मैं बात कर रहा हूँ। HantaVirus की, इस Virus ने हाल ही में पूरी दुनिया मे खलबली मचा दी है। 

जबसे China के युन्नान प्रांत में एक व्यक्ति की इस हंतावायरस से मौत हो गयी है। और इस एक मौत के बाद ये वायरस पूरी दुनिया के न्यूज़ चैनल, न्यूज़पेपर, सोशल मीडिया में चर्चा में आ रहा है।, इसलिए जनता को इसके बारे में बताना जरूरी है, इससे बचने का उपाय करना भी बहुत जरूरी है। और अब हम सबको इसे जानने की भी जरूरत है कि #HantaVirus क्या है। इस वायरस के होने के क्या लक्षण है, किस तरह से हम इस वायरस से अपना बचाव कर सकते हैं।
WHAT IS HANTAVIRUS, What are the first symptoms of hantavirus? Can you survive hantavirus? Where is hantavirus most common? Is there a test for hantavirus? Orthohantavirus WIKIPEDIA, HANTAVIRUS KYA HAI, KAMAL HOW,KAMALHOW, CDC HANTAVIRUS, SYMPTOMS, PREVENTION, CURE, TRATMENT, COVID19, CORONAVIRUS
HANTAVIRUS FULL EXPLAINED HINDI
अब इस HantaVirus के आने से लोगों में खौफ बन गया है कि जिस तरह से CoronaVirus ने चीन से होते हुए पूरी दुनिया को शिकार बनाया है, उसी प्रकार कहीं HantaVirus भी लोगों को अपना शिकार बनाना ना शुरू कर दें।

ऐसी परिस्थिति में आपको CoronaVirus और HantaVirus दोनों में अंतर जानना बहुत जरूरी है, हंता वायरस क्या है ? इस वायरस का संक्रमण किस तरह से फैलता है, HantaVirus से क्या लोगों की जान जा सकती है ? तो हम HantaVirus से बचने के उपाय आदि की बाते करेंगे।

HantaVirus क्या है ?

यह वायरस विशेष रूप से कृन्तकों द्वारा फैले गए Virus का एक परिवार है। CDC की रिपोर्ट और जानकारी के मुताबिक HantaVirus चूहों से फैलने वाला वायरस है। लेकिन यह वायरस आमतौर पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नही फैलता है।

तो इस हिसाब से यह HantaVirus, CoronaVirus जितना खतरनाक बिल्कुल भी नही है। कोई भी व्यक्ति अगर किसी चूहे का मलमूत्र या उसके लार को छूने के बाद वो अपने हाथ अपने मुँह को छूता है तो Hanta के संक्रमित होने की उम्मीदें बढ़ जाती है।

Experts के मुताबिक बोला गया है कि यह वायरस चूहे और गिलहरियों के संपर्क में आने से फैलता है। Center For Disease Control And Prevention के हिसाब से चूहे के घर के अंदर या बाहर जाने से HantaVirus का संक्रमण बढ़ने की शुरुआती वजह हो सकती है।

अगर कोई भी इंसान पूरी तरह से स्वस्थ भी होगा फिर भी लोग अगर इस वायरस के संपर्क में आते है, तब भी आप इससे बच नही सकते हैं। CDC के हिसाब से इस वायरस से लोगों की मृत्यु दर 38 फीसदी होती है। और इस वायरस से होने वाली बीमारी का भी अभी तक कोई Specific Treatment यानी इलाज नही है।

HantaVirus कहाँ से आया ?

दरअसल HantaVirus चीन की देन बिल्कुल नही है। सबसे पहले इस वायरस के संक्रमण का एक केस मई 1993 में दक्षिण पश्चिमी America में हुआ था। ये अमेरिका के चार क्षेत्रों के कोनो में Arizona, New Mexico, Colorado, Utah में फैला हुआ था।

New Mexico में HantaVirus से एक युवक और उसकी होने वाली पत्नी की मृत्यु हो गयी थी। CDC के रिपोर्ट के अनुसार Canada, Argentina, Chile, Bolivia, Brazil, Panama, Prague और Uruguay से भी इस वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।

2019 में January के महीने में HantaVirus से Patagonia में 9 लोगों की मौत हो गयी थी। इसके बाद पर्यटकों को सावधान भी किया गया था। उसके बाद एक अनुमान के हिसाब से लगभग 60 लोगों में Hantavirus का संक्रमण पाया गया था। इनमे से 50 वायरस से ग्रसित लोगों को Quarantine रखा गया था।

अभी कुछ दिन पहले China के Global Times के हिसाब से HantaVirus से ग्रसित एक व्यक्ति बस से चीन के Shandong प्रांत वापस जा रहा था। वह Hantavirus से ग्रसित यानी Positive पाया गया था। उसके बाद बस में अन्य लोग जो यात्रा कर रहे थे। वह लगभग 32 लोग थे, फिर उनकी भी जाँच हुई थी। 

HantaVirus क्या सचमुच जानलेवा है ?

जी हाँ, ये वायरस भी जानलेवा है, इस वायरस से ग्रसित 38 % व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। और चीन में अभी ये वायरस कुछ इस तरह से सामने आया हैन की, अभी दुनिया एक मुसीबत CoronaVirus से निपटी नहीं है। और दूसरे वायरस ने कदम रख दिया है। ऐसे में ये सभी के लिए एक चिंता का विषय बन जाता है।

CoronaVirus को संयुक्त राष्ट्र ने पहले ही वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है। CoronaVirus ने अब तक 16000 से अधिक लोगों को अपना शिकार बना लिया है। वहीं 4 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से ग्रसित हैं। और यह वायरस फैलते फैलते करीब 200 देशों में पूरी तरह से फ़ैल चूका है। 

इसमें हमने जाना कि HantaVirus चूहे और गिलहरियों से फैलता है। और अब हम बात करेंगे की HantaVirus के लक्षण क्या है ?

HantaVirus के लक्षण क्या-क्या है ?

अगर कोई भी इंसान HantaVirus से ग्रसित होता है, तो उसे बुखार, सर दर्द, सर्दी, बदन दर्द, उल्टी जैसे लक्षण महसूस होते है। इस वायरस के होने पर व्यक्ति के Lungs ( फेफड़ो ) में पानी भरने लगता है। और व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत भी होती है।

HantaVirus के लक्षण कुछ इस प्रकार के है :- 
  • पूरे बदन में दर्द, सर दर्द और बुखार आना। 
  • उलटी होना, पेट में दर्द होना और Diarrhea की शिकायत होना।
  • सांस लेने में तकलीफ होना, इलाज़ में देरी करने पर फेफड़ों में पानी का भर जाना।
 ये सब HantaVirus के लक्षण है।

HantaVirus से कैसे बचाव करें ?

HantaVirus से बचने का सबसे बेहतरीन तरीका है, कि हम जहाँ भी रहते हैं वहाँ पर चूहे का आगमन ना हो, चाहे वो हमारा ऑफिस हो, या कोई ऐसी जगह जहाँ आप का अधिकतर समय बिताते है, वैसी जगह पर चूहे का होना आपके लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। तो कोशिश करें कि आपके घर में चूहे ना आते हो। और केवल चूहे ही नहीं कोशिश करें गिलहरी से भी दूरी बना के रखें। HantaVirus एक इंसान से दूसरे इंसान में नहीं फैलता है। मगर आपने किसी चूहे के मल-मूत्र आदि को छूने के बाद अपने मुँह, आँख, और नाक इत्यादि को छुआ तो इस वायरस का संक्रमण होने क खतरा काफी हद तक बढ़ जाता हैं।

HantaVirus से बचाव करने के तरीके :-

  • घर में चूहे को बिलकुल न पहुँचने दें।
  • घर में चूहे न आये इसके लिए विशेष इंतज़ाम जरूर करें। 
  • चूहे के मल-मूत्र को छूने से बचें।
  • चूहे के अलावा गिलहरी से भी अपने आप को दूर रखें। 
  • अगर आप चूहे को हाथ लगाएं तो अपना हाथ साफ़ अच्छे से जरूर साफ़ करें। 

इन सभी उपायों से आप HantaVirus से खुद का बचाव कर सकते हैं। कोरोनावायरस की तरह ही इसका कोई इलाज अभी संभव नहीं है। तो इसके लिए आप इन्ही सब बचाव से अपनी रक्षा कर सकते हैं। मगर इस वायरस के डर से चूहे को न मारें, यह केवल संक्रमित चूहों से होता है। 

CORONAVIRUS और HANTAVIRUS में क्या अंतर है ?

  • कोरोना वायरस में लोगों को बुखार आना, साँस लेने में तकलीफ और जुखाम जैसे बीमारियाँ होती है जबकि हंता वायरस में मरीज़ को बुखार, सर दर्द, पूरे बदन में दर्द जैसी समस्याएँ होती हैं। 
  • कोरोना वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में संक्रमण फैलाता है, जबकि हंता वायरस चूहों से फैलता है।
  • हंता वायरस का SOURCE पता लग चूका है, की ये चूहे से होने वाला वायरस है। लेकिन कोरोना वायरस का SOURCE अभी तक पता नहीं लग पाया है, कि वाकई में ये चमगादड़ या साँप से आया है, अभी वैज्ञानिक भी परेशानी में है। 
  • कोरोना वायरस की मृत्यु दर 30 प्रतिशत है। जबकि हंता वायरस से होने वाली मृत्यु दर 32 % से 38 % है। 
इस हिसाब से कोरोना वायरस अधिक खतरनाक है। जबकि हंता वायरस कोरोना से कम खतरनाक है। क्यूंकि हन्ता वायरस एक दूसरे के संपर्क में आने से नहीं फैलता बल्कि यह चूहे के सम्पर्क में आने से फैलता है।

यह जानकारी इंटरनेट और न्यूज़ ब्लॉग के शेयर से ली गयी है। अगर आपको इसके बारे में और अधिक जानकारी चाहिए तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें।


ये थे हन्ता वायरस और कोरोना वायरस से जुडी मुख्य जानकारी, तो जैसा की आप दुनिया के हालात देख ही रहे है। तो आप सभी को मै यही सलाह दूंगा की कोरोना और हन्ता वायरस से बचने क लिए आप सभी अपने घर के अंदर रहे, घर से बाहर बिलकुल न जाएँ अपने और अपने परिवार के साथ रहें और उन्हें भी बाहर जाने से रोके और सुरक्षित रहे।


आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद

Post a comment

0 Comments